Vashikaran by Name – नाम से वशीकरण इन हिंदी

Vashikaran by Name – नाम से वशीकरण इन हिंदी


तंत्र शास्त्र के अनुसार अगर सच्चे मन और श्रद्धा से किया जाए तो नाम से वशीकरण मंत्र करना अत्यंत सरल होता है। वशीकरण के कुछ ऐसे अत्यधिक शक्तिशाली मंत्र हैं जिनके साथ अगर व्यक्ति का नाम जोड़कर मंत्र जाप किया जाए और कुछ टोटके किए जाएं तो आम इंसान भी वशीकरण की क्रिया को आसानी से कर सकता है.

पर हर वशीकरण क्रिया पर जो नियम लागू होता है वह नियम इस वशीकरण पर भी लागू होता है कि आप अपने स्वार्थ के लिए अगर इस वशीकरण को करेंगे तो कभी सफल नहीं होगा अगर आपका मन सच्चा है और आप सही में मन से परेशान हैं तभी यह वशीकरण सफल होगा.

नाम से वशीकरण मंत्र की पहली विधि

नाम से वशीकरण मंत्र की ये अत्यंत सरल विधि है और हर कोई इसे कर सकता है. इसे करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस किसी भी महिला या पुरुष का वशीकरण करना चाह रहे हैं उसका पूरा नाम आपको पता होना चाहिए तभी यह वशीकरण मंत्र काम करेगा।

॥ ॐ ह्रीं कुरूम पिसचिनी (अमुक) मं वशियम भवन्ति ॥

इस वशीकरण क्रिया को किसी भी शुभ मंगलवार से शुरू करके लगातार 21 दिनों तक करना है। इसी वशीकरण को करने के लिए आपको किसी एकांत स्थान पर बैठकर सबसे पहले मन में उस व्यक्ति या महिला का विचार करें जिसका वशीकरण करना है, उसके बाद ऊपर दिए गए मंत्र का 51 बार जप करना है. मंत्र के बीच में जहां अमुक शब्द लिखा है वहां पर उस व्यक्ति या महिला का नाम ले। रोज जब आपका मंत्र जप खत्म हो जाए तो किसी भी गाय को एक रोटी या तीन केले खिलाए। जब आप का 21 दिनों तक का जप खत्म हो जाए तो किसी गरीब को एक समय का भोजन खिला दे। कुछ ही दिन में आपको इस वशीकरण के शुभ परिणाम दिखने शुरू हो जाएंगे.

नाम से वशीकरण मंत्र की दूसरी विधि

इस क्रिया को आप किसी भी दिन कर सकते हैं. इसे करने के लिए आपको तीन नींबू की जरूरत पड़ेगी। सबसे पहले किसी एकांत स्थान पर बैठ जाएं और उसके बाद उन तीनों नींबू के ऊपर उस व्यक्ति या महिला का नाम लाल रंग की स्याही से लिखें। इस बात का ध्यान रखें कि जिसका भी नाम लिख रहे हैं नाम पूरा लिखें। नाम लिखने के बाद तीनों नींबू के ऊपर एक एक लौंग गाड़ दे। उसके बाद नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जप करें और जब आपके 108 बार जप पूरे हो जाए तो फिर से 21 बार मंत्र पढ़ते हुए उन तीनों नींबू के ऊपर 21 बार फूंक मारे.

॥ ॐ (अमुक) मोहे मोहे वश्यं करू करू स्वाहाः ॥

अब शाम के समय बिना किसी से बात किए इन तीनों नींबू को ले जाकर एक नींबू को किसी चौराहे पर फेंक दें, दूसरे नींबू को किसी श्मशान के अंदर और तीसरे नींबू को किसी बहते पानी में प्रवाह करके बिना किसी से बात किए घर आ जाए।

10 से 15 दिन के भीतर सामने वाला व्यक्ति खुद आपसे संपर्क करने की कोशिश करेगा।

नाम से वशीकरण की तीसरी विधि

इस वशीकरण क्रिया को भी आप किसी भी दिन से शुरू कर सकते हैं. इसे करने के लिए आपको सबसे पहले 07 पान के पत्ते लेने होंगे और उन सातों पान के पत्तों पर लाल सिंदूर की मदद से उस व्यक्ति या महिला का नाम लिखें. नाम लिखने के बाद सातों पत्तों को अपने सामने रखकर नीचे दिए गए वशीकरण मंत्र का 551 बार जाप करें. मंत्र बहुत छोटा सा है इसलिए मंत्र जाप करने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. मंत्र जाप होने के बाद इन सातों पत्तों को एक साथ काले रंग के धागे में बांधकर इसकी एक बंडल बना ले। अब इन सातों पत्तों को अपने घर के अंदर कहीं छुपा कर रखदे 7 दिनों के लिए।

॥ ॐ क्लिं कृष्णाय ॥

आठवें दिन इन पत्तों को किसी भी पीपल के पेड़ के पास एक छोटा सा गड्ढा खोदकर गाड़ दें और बिना पीछे मुड़े वापस आ जाए. आपकी वशीकरण क्रिया संपूर्ण हो जाएगी।