वशीकरण

पति वशीकरण


ॐ नमो महायक्षिण्ये मम पति में वश्यं कुरू कुरू स्वाहा।

यह मंत्र एक लाख बार जाप करने से सिद्ध हो जाता है। पति को वश में करने के लिए प्रतिदिन 108 बार जाप करने से पति पत्नी के वशीभूत हो जाते हैं।

मंत्र
ॐ नमो महायक्षिणी मम पति दश्य मानय कुरू स्वाहा ।
इस मंत्र को पहले एक हजार बार जपकर सिद्ध कर लेना चाहिए। फिर स्त्री गुरुवार के दिन केले का रस, सिंदूर और अपनी योनि का रक्त मिलाकर सात बार उपरोक्त मंत्र से अभिमंत्रित कर मस्तक पर बिंदी लगाने से पति वश में हो जाता है।

मंत्र
ॐ हीं श्रीं क्रीं थिरिं ठः ठः अमुकं वश करोनि ।
यह मंत्र दस हजार बार जाप करने से सिद्ध हो जाता है। शुक्ल पक्ष की प्रथमा तिथि को गोरैया पक्षी के मांस को मंत्र से अभिरमंत्रित कर थोड़ा-सा पान में रखकर पति को खिलाने से वह एक क्षण के लिए भी पत्नी से दूर नहीं रहता है।

पान के पत्ते पर नाम लिखते ही होगा वशीकरण

पान के पत्ते पर नाम लिखते ही होगा वशीकरण


5 पान के पत्ते , आम की टहनी , शहद , सिन्दूर , लाल रंग का धागा ले |

सिन्दूर का घोल तैयार करे और उन सभी पत्तो पर उस का नाम लिखे ( जिसे आप वश में करना चाहते हो )

और फिर उन सभी पत्तो को शहद में डिबो दे और आम की लकड़ी , लाल धागा भी उस शहद में डाले |

फिर 444 बार इस मंत्र का जाप करे | मंत्र का जाप करने के बाद उस आम की लकड़ी ऊपर पान के पत्ते लपेटे और लाल धागे से बांधे |

उस को रात को सोते समय पैरों के नीचे रखे और ऐसे 21 दिन रखे और फिर उसको किसी सुनसान जगह में जा कर दबा दीजिये |

मंत्र की जानकारी के लिए सम्पर्क करे :