डायन विद्या क्या है और संसार में इसका दुष्प्रभाव


नमस्कार दोस्तों आज हम आपको ऐसे महाशक्तिशाली विद्या के बारे में बताने वाले है जो एक बहुत ही गोपनीय विद्या है और इसे सीखने के बाद मनुष्य एक पल में किसी की भी हत्या कर सकता है और इस विद्या को डायन विद्या (dayan kise kahate hain) कहते है अगर इस विद्या को कोई स्त्री सीखे तो उसे डायन कहा जाता है और अगर इस विद्या को कोई पुरुष सीखे तो उसे डैया कहा जाता है |

यह विद्या बहुत ही प्राचीन विद्या है यह विद्या सीखने के बाद वह व्यक्ति बहुत ही सतर्क हो जाता है इनके परिवार वाले भी इन्हें नहीं पहचान सकते है और सीखने के बाद वह जितना बूढ़ा होता जाएगा वह उतना ही शक्तिशाली बनता जाता है इनके पूजा पाठ का कोई भी सबूत नहीं होता है । यह विद्या की देवी को डाकीनी (dayan in hindi) कहा जाता है डाकीनी एक संस्कृत शब्द है जिसका हिंदी अर्थ डायन होता है।

डायन माता काली की सेविका है इनका तंत्र बहुत ही शक्तिशाली होता है इनका मंत्र सिर्फ दो या तीन शब्दों का ही होता है जिस परिवार को बहुत दुख देना होता है उसके घर के दरवाजे के नीचे अपने माहवारी कपड़े का जुत्ती बनाकर गाड़ देती है जिससे उस घर में कोई भी देवी देवता का आना निषेध हो जाता है और इनके द्वारा लगाया गया भूत लंबे समय तक परेशान करता रहता है।

डायन विद्या क्या है – dayan vidya kya hai

इनकी साधना बहुत ही गोपनीय होती है दीपावली के दिन ये अपने गांव को मंत्रो से बांधकर (जिससे उसके गांव वालों को बहुत जल्द नींद आ जाती है और वह सो जाते है) जंगल में या शमशान में 8 या 10 का ग्रुप बनाकर गोला बना लेती है और अपने गुरु डायन के समक्ष नग्न होकर अपने मल मूत्र से जमीन को लीपकर कमर में झाड़ू बांधकर रात भर नाचती है और अपनी शक्ति बढ़ती है।

पहली बार यह गलती से या जानबूझकर डायन विद्या (dayan in hindi) को सीख लेती है तब इसके बाद इनका गुरु सिद्धि के लिए बली मांगती है और यह बली अपने प्रिय पुत्र या पति कि होती है और अगर बली देने से मना कर दिया जाए तो वह स्त्री जो सीखना चाहती है वह पागल हो जाती है और अगर हां कह दिया जाए तो बली के लिए नियुक्त व्यक्ति अपने आप मर जाता है

किसी को कुछ भी पता नहीं चलता उसके घर वाले भी पहचान नहीं पाते हां अगर उसके घर में कोई सिद्ध तांत्रिक है और वह बली के लिए नियुक्त व्यक्ति अगर मर जाए और अगर उसका चेहरा वह तांत्रिक देख ले तो वह पहचान सकता है कि उसकी मृत्यु किस तरह हुई है ।

इनकी सिद्धि होने के पश्चात ये अपने तंत्र का प्रयोग करना चालू कर देते है पेड़ पौधे, पशु, पक्षी पर ये शुरुआती समय पर ये अपने तंत्र का प्रयोग करते है और उसके बाद फिर ये मनुष्यों को परेशान करने के लिए उस पर अपना तंत्र का प्रयोग करती है और पहचानने कि कोशिश करती है कि उसे क्या हो रहा है और क्या नहीं हो रहा है।

बहुत से लोग जो डायन विद्या (dayan kaisi hoti hai) के बारे में जानते है वह इस विद्या को सीखना नहीं चाहते है क्योंकि इस विद्या को सीखने वाले का जीवन बहुत ही दुखदाई होता है ये बात कुछ लोग जानते है लेकिन जो बूढ़ी डायन (सीनियर डायन) होती है उसे उसके मृत्यु से पहले 4 या 5 शिष्य बनाना उनकी मजबूरी होती है और अगर वह बनाने से इंकार कर दें तो इनका भूत होता है दरहा भूत |

वह महाशक्तिशाली होता है और इन्हें हर क्षण दुख देता रहता है मारता रहता है इसलिए ये ऐसे पुरुष या स्त्री को चुनती है जो बहुत ही गुस्से वाले होते है दूसरों से जलते है ऐसे पुरुष या स्त्री को चुनते हैं ज्यादातर ये अपने ही परिवार के सदस्य को चुनती है और उसे अपने वस में करके चार या पांच मंत्र सीखा देती है जिससे डायन बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है|

डायन कैसे बनते हैं – dayan kaise bante hain

अगर उसके परिवार में कोई छोटी लड़की या लड़का है तो उस पर शक्तिपात कर देती है जिससे उसे सपने के माध्यम से डायन विद्या (dayan ko bhagane ke upay) की धीरे धीरे सीख मिलने लगती है और जब उसकी शादी हो जाती है तो उस पर डायन के गुण आना चालू हो जाते हैं इस प्रकार से डायन बनने की प्रक्रिया होती है। इस विद्या को सीखने वाला राक्षस का गुलाम हो जाता है और उसे हर समय भोग देना पड़ता है और भोग देने के लिए यह हर दो मिनट में अपने मंत्र का प्रयोग दूसरों पर करते है।

डायन के गुण को हमेशा के लिए नष्ट नहीं किया जा सकता है इसीलिए लोग इनसे डरा करते है और इनसे हमेशा ईर्ष्या करते है इनकी आयु अत्यधिक लंबी होती है और मौत अत्यधिक कष्टदाई और दर्दनाक होती है इनके शरीर में कीड़े पड़ते है ये दूसरों का उम्र चुराकर ज्यादा साल तक जीते है ये जितनी बूढ़ी होती जाती है इनकी शक्ति उतनी ही बढ़ती जाती है। डायन बहुत चालाक व शातिर होती है।

डायन को भगाने का उपाय – dayan ko bhagane ka upay
बड़ी डायन के ऊपर मारण क्रिया करना बहुत ही कठिन है इनके ऊपर मारण क्रिया एक वरिष्ठ तांत्रिक ही कर सकता है क्योंकि इनके शक्तिशाली भूत इनकी चौबीस घंटा रक्षा करते रहते है और इनका जो पिंड होता है वह भी हमेशा बांधा ही रहता है|

अगर कोई वरिष्ठ तांत्रिक जो कि अनेक सिद्धियां जानता हो जैसे: काली सिद्धि, भैरव सिद्धि, हनुमान सिद्धि, बंगलामुखी आदि सिद्धियां तो वह इसे मार सकता है लेकिन उसके लिए उस तांत्रिक को काफी खर्चा लगेगा। डाइनों की जो शक्ति होती है वह माता काली की सेविका की शक्ति होती है ।

हर सेकंड की खबर इन्हे मिलती रहती है गांव में क्या हो रहा है क्या नहीं हो रहा है हर पल की खबर इनका भूत इन्हे देता रहता है जो कि कर्ण पिसाचिनी की तरह कार्य करता है इसीलिए इनके परिवार वाले हमेशा खुश रहते है ।

इनके घर में हम चीजे सुरक्षित रहती है और इनका कारोबार बहुत तेजी से बढ़ता है अगर इसके ऊपर या इसके परिवार वालों के ऊपर कोई तंत्र का प्रयोग करता है तो इसे तुरंत पता चल जाता है कि कौन मुझे मारने या मेरे परिवार को परेशान करने की कोशिश कर रहा है और फिर ये उसे नहीं छोड़ती है उसकी मृत्यु पक्की होती है इसीलिए लोग इनसे बहुत डरते है हां लेकिन जो महासिद्धियों का मालिक होगा वहीं इनसे जीत सकता है|

एक वरिष्ठ तांत्रिक जो कि सभी सिद्धियों का मालिक है वह एक बार में 4 या 5 डायनों को संभाल सकता है और अगर कोई साधारण मनुष्य है तो वह डायन के एक शक्तिशाली वार से ही मर जाता है और आप लोगों ने हार्टअटैक सुना होगा यह किसी को आता नहीं है यह डायन किसी को मारना चाहे तो वह 1 सेकंड में किसी को भी हार्टअटैक, लकवा जेसी ही अनेक बीमारी ला सकती है इनके शक्ति का अंदाजा कोई भी नहीं लगा सकता है ।

ये जिस पर गुस्सा हो जाएं उसकी तो सामत आ जाती है और ये अगर किसी पर अपने तंत्र का प्रयोग करे तो अगर ये ठीक करना चाहे तो ये ही ठीक कर सकती है और वो भी तब जब इस पर ज्यादा दबाव हो और ये दूसरी डायन पर या उसके परिवार पर भी तंत्र का प्रयोग नहीं कर सकती है अगर इसके परिवार पर कोई तंत्र का प्रयोग करे तो ये उसे ठीक नहीं कर सकती ।

ये सिर्फ दुख दे सकती है अच्छे कर्म कभी नहीं करती है । ये सीधे साधे लोगों पर ही अपने तंत्र का प्रयोग करती है धार्मिक, आध्यात्मिक लोगों को ये हमेशा परेशान करी रहती है ये सिर्फ खूनी लोगों से ही डरती है क्योंकि इसे मरने का बहुत ही डर होता है

डायन को पहचानने का तरीका – dayan kya hoti hai

एक डायन (dayan ko marne ka upay) का जीवन भर कोई भी सबूत नहीं मिलता है और न ही प्रत्यक्ष प्रमाण मिलता है और अगर कोई पुलिस को बोले कि यह डायन है तो कोई सबूत न होने के कारण वह दयान अपने तंत्र का प्रयोग करके पुलिस को भी अपने वस में कर सकती है और आपको कड़ी से कड़ी सजा दिलवा सकती है डायन के लिए कोई भी कार्य करना एक छोटी बात है।

अगर कोई चुपके से उसके खाने में कुछ डाल दे और डायन को अपने सामने ही खाने को बोले (फटाफट) खिला दे तो उसे मारा जा सकता है और ये काम सिर्फ उसके परिवार वाले यानी की उसके पुत्र ही कर सकते है क्योंकि डायन यहां पर इतना ध्यान नहीं देगी क्योंकि पुत्र उसके परिवार वाले उसे रोजाना खाना देंगे इसीलिए यहां पर वह इतना ध्यान नहीं देगी और उसे मारा जा सकता है यहां पर खिलाने वाले को बहुत ही सावधानी से काम करने की जरूरत है ।

साधारण लोग सोचते है कि डायन बहुत ही भयानक दिखती होगी जैसा कि टीवी पर दिखाते है लेकिन डायन एक साधारण होती है वह छोटी हो सकती है कितने भी उमर कि हो सकती है 15 साल की हो सकती है नौकरी करने वाली हो सकती है, हाउस वाइफ हो सकती है बूढ़ी हो सकती है काली हो सकती है, सुंदर हो सकती है, सांवली हो सकती है (इस में पुरुष भी शामिल है) किसी भी उम्र की हो सकती है

इनके चेहरे से इनकी उम्र से इन्हे पहचाना नहीं जा सकता है ये सामान्य लोगों जैसी ही होती है। पढ़ी लिखी भी हो सकती है अनपढ़ भी हो सकती है किसी कि भी मां, बहन, भाभी, दीदी हो सकती है। 2 दिन पहले कोई डायन बने ऐसा भी होता है

डायन से बचने का तरीका – dayan se bachne ka tarika

डायनों के पास मुठ मारण, भूत लगाने की विधि और सबसे ख़तरनाक विद्या जो “बान मारण” विद्या होती है । बान बत्तिश प्रकार के होते है जैसे : सुई बान, लोहा बान, सरसों बान चाऊर बान आदि । हर एक बान बहुत ही शक्तिशाली होते है और बहुत ही घातक होते है इनके एक घातक वार से मनुष्य को लकवा मार सकता है|

हां लेकिन अगर भोग दिया हो तो मैं यहां आपको बता दूं अगर डायन (dayan ko kaise pahchane) चाहे तो आदमी की फड़फड़ाकर मृत्यु हो सकती है लेकिन भूत को भोग देना पड़ता है (मांस) और अगर यह बिना किसी भोग के इन बान का प्रयोग करे तो कम मात्रा में व्यक्ति को दर्द होता है ।

इसलिए डायन से हर कोई डरता है और इनसे उलझना बिल्कुल भी नहीं चाहिए क्योंकि इनके नजर से बचना बहुत ही कठिन होता है। मेरे हिसाब से मैंने आपको डायन विद्या से रिलेटेड कुछ जानकारी दी है अब अगले पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा की डायन को कैसे पहचाने, अगर आपके घर के पास कोई डायन है तो उसे कैसे पहचाने इसके अगले पोस्ट में मैं यही बताने वाला हूं।

दुनिया में डायन विद्या का दुष्प्रभाव : dayan vidya in hindi

आज के समय में बहुत से लोग इस विद्या को सीख रहे है आज यह विद्या थोड़ी कम मात्रा में है लेकिन आज से 5 साल बाद यह विद्या पूरी दुनिया में फेल जाएगी हर समय इस विद्या को लोग सिख रहे है हमने यह पोस्ट सिर्फ मानव कल्याण हेतु बनाया है हमारा बिल्कुल भी मकसद नहीं है आप इस विद्या को सीखें क्योंकि यह विद्या बहुत ही घातक विद्या है और इसे सीखने वाले का जीवन बहुत ही कष्टप्रद व दुखदाई होता है

इसलिए हम खुद मानते है कि इस विद्या को नहीं सीखना चाहिए बल्कि उसके बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। इसकी जानकारी सभी को होनी चाहिए क्योंकि यह विद्या संसार में बहुत तेजी से फैल रही है और वैसे भी किसी को दुख देकर कोई सुखी नहीं हो सकता है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s